Thursday, 8 February 2018

gazal .. baarish

         गजल.       \\\ पिय संग लगन लगाई।।।





पिया मुझे अपनी प्रित बनालो
जीवन की संगीत बनालो
पिया मुझे अपनी ////////////

बरखा बदरी बन घिर आऊँ
बरस बरस अब तुझे भिगाऊ
बूँद में अपनी प्रेम छुपाके
साँवरे प्यास बुझाऊँ /////////
पिया मुझे अपनी ///////
जीवन की ///////////////

सावन बिता भादों आई
उमड़ पड़ि  हाँय मेरी अंगड़ाई
अब जाऊँ तो फिर ना आऊँ
इसको अपनी जीत बनालो

पिया मुझे अपनी प्रित बनालो
जीवन की संगीत बनालो।।

                                      विनिता पाण्डेय  

                

No comments:

9svini.com

तन और आँच

                           त न  और  आँच  सर्दी  की   निष्ठुरता  ने,  अंग  को  मेरे  जमा  दिया           रक्त  सुख  कर  बर्फ  ब...